शादी एक अद्भुत रिश्ता है
हाथ पकड़ किये वादों
के पहले मन का मिलन
प्रमुख होता है
कई संकेत आते हैं
की आप हमको भातें है
पेट की गुदगुदी
मुस्कराती है
बात फोन तक आती है
सिलसिलेवार अंजाम में
आज वो दिन आएगा
तुम उसकी और वो
तुम्हारा हो जाएगा
नए सफर की उमंग में
मन धुन कोई गुनगुनायेगा
“कैसे मुझे तुम मिल गयी”
देख तेरे लिए कोई रोज़ गायेगा।

#आपकीफरमाइश #प्रज्ञा 24 अप्रैल 2018