अंशुमन की सीख

अंशुमन बोलना सीख रहे हैं, समय के साथ मैं ये भूल जाऊंगी की उन्होंने कौन से शब्द को कैसे बोलना शुरू किया इसलिए ये जरूरी है कि इस प्यारी याद को मैं लिख कर स्थायी कर दूँ। बोली कि तस्वीर नहीं ले सकते उसको रिकॉर्ड कर सकते हैं लेकिन रिकॉर्ड करने जाती हूँ तो अंशुमन मोबाइल पकड़ के टच की काबिलियत सीखने लगता है।

Continue reading