रहिमन पानी रखिये

एक एप से थम्ब-नेल बनाते हुए जीवन की अजीब विडंबना पर ध्यान जा रहा है, सभी शृंखलाओं में मुफ़्त तस्वीरें उपलब्ध हैं परन्तु पानी की समस्या से जुड़े सभी तस्वीरों पर शुल्क लगा है, व्यवसाय यही देखता है की मांग कहाँ है। पानी की मांग है। पानी की समस्या पर अंतरष्ट्रीय स्तर या कॉलेजो , स्कूलों के स्तर पर इतने प्रोजेक्ट्स , केस स्टडी की जाती होगी की सभी सैंपल चित्र पर शुल्क है।मुद्दा केवल पानी।
बाकी सब बेमानी।