चीर बीनते कबाड़ीवाले
देश की मिट्टी साफ करते हैं!
छांटते हैं पढ़े लिखों का
बेतरतीब फैलाया कचरा
मेटल, टूटी काँच औऱ प्लास्टिक
की पुनरावृत्ति में मदद करते हैं
गंदगी में सराबोर खानाबदोश
ये लोग तिरंगे की इज़्ज़त भी
बहुतों से बेहतर करते हैं!

यदि आप मेरी ब्लॉग पर नए पाठके हैं तो क्षणिका के बारे में समझने के लिए यहाँ क्लिक करें

PC- गूँज वाट्सएप्प समूह