तब केवल हिंदी आती थी

मुझे कक्षा सात-आठ के दिनों में अंग्रेज़ी में पूरे पूरे विषय को समझने में कठिनाई होती थी। “द हैबिटैट”, “मैगनेटिज़्म” जैसे विज्ञान के चैपटर्ज़ समझ ही न आता था की कहना क्या चाहते हैं। इतिहास, भूगोल , नागरिक शास्त्र हिंदी में थे। कहानी की तरह पढ़ जाती, आज भी ये तीन विषय कक्षा दस तक के बच्चों को एक फीचर फ़िल्म की तरह पढ़ा सकती हूँ ।

Continue reading