शानदार रविवार 18 Jan

आज गूँज साहित्यिक समूह के दो मित्र अनुपम और प्रवीण जी से मिलना हुआ । कई किताबों और हिंदी युग्म नई हिंदी के लेखकों पे चर्चा हुई। अच्छा रहा आज रविवार । प्रवीण जी की डार्विन जस्टिस पढ़नी है अब, बिहार और नक्सल पृष्ठभूमि के साथ क़ई महत्त्व पूर्ण घटनाओं को समेटती है उनकी किताब ज़्यादा को पढ़ कर ही लिखा जा सकेगा।

Continue reading