दोस्तों हम जान रहे हैं कि इस समय भारत में आम आदमी के लिए पैसे और नौकरी की कितनी किल्लत है, बैंकों से पैसा नहीं निकालने दिया जा रहा है। नोटबन्दी के गलत और अदूरदर्शी क्रियान्वयन ने हमारी अर्थ व्यवस्था को गम्भीर क्षति पहुँचा दी है।
राजनीति में नहीं जा रही हूँ अभी। लेकिन यह जानना आवश्यक है कि बहुत बड़ी संख्या में लोग #PayTM #KYC #Fraud का शिकार हो रहे हैं। आज सुबह पता लगा हमारी सोसायटी के सदस्य जो अधिकतर यात्रा में रहते हैं और इतना विवरण देख देख transaction नहीं कर पाते उनके 80 हज़ार एक झटके में बैंक खाते से उड़े हैं। जबकी वे जानकार और पढ़े लिखे व्यक्ति हैं फिर भी अवचेतन में यह बात नहीं आती की यह मेरे साथ धोखा होने वाला है।

गौर करें की एक देश जहाँ केवल 10-15% जनता अंग्रेज़ी में दक्ष है वहाँ #Pishing और #SocialEngineering के माध्यम से ऑनलाइन धोखाधड़ी कितनी आसानी से हो सकती है। पढ़े लिखे लोग भी इसकी चपेट में आ रहे हैं।

नीचे दिए गए मैसेज को ध्यान से देखें यह मेरे पति आलोक मिश्र को आया था। अब इसकी वाक्य संरचना में आप पाएंगे की verb का ग़लत प्रयोग है। कोई भी सुप्रसिद्ध संस्था ऐसे गैर जिम्मेदाराना मेसेज नहीं भेजती।

यह अलग बात है कि ये मेसेज वास्तविक गूगल वेरिफाइड PAytm app को प्रयोग करते से ही आता है। यह भी सोचने वाला विषय। क्या यह ओर्गनाइजड क्राइम है?

हम वर्तनी की अशुद्धियों , गलत वाक्य संरचना इत्यादि पर ध्यान नहीं देते। कृपया अब ध्यान दें गलत spelling, सेंटेंस वाले लिंक और मैसेज पर काम आगे न बढ़ाएं ।

ईस दिए गए नम्बर पर कॉल करने से सामने वाला बंदा जो एप डाउनलोड करने बोलता है उससे मोबाइल स्क्रीन शेयरिंग मोड पर जाता है। स्क्रीन शेयरिंग कार्यालयों में प्रयुक्त होने वाली साधारण प्रक्रिया है । हो सकता है साइबर सेल भी इसे वर्जित नहीं करेगा, इसलिये हम सावधान रहें। आलोक को जब कॉलर ने एप डाऊनलोड करने कहा तो उन्होंने पहले समयाभाव और किसी शंका में मना किया था फिर बाद में पता चला की चालू फ्रॉड से बाल बाल बचे हैं वे।

गए वैसे वापिस नहीं आएंगे। मानसिक पीड़ा अलग होगी। कमज़ोर दिल वाले लोग , बीमारी से ग्रस्त लोग तो मरने मरने पे आ जाएंगे।

हमने हाल में देखा है महाराष्ट्र में PMC बैंक से पैसे न निकाल पाने के कारण कुछ लोगों को इलाज नहीं मिला और मौतें भी हुई हैं।

हँस के किसी हालात का मीम बनाना अपराध नहीं है लेकिन हालात वाकई खराब हैं इसे न मानना और एक साथ होकर पब्लिक फोर्स न बनना हम भारतीयों को ले डूबेगा। हम केन्या या ज़िम्बाब्वे के आर्थिक हालात में चले जाएंगे।

#Pishing और #SocialEngineering के बारे में पढ़ें ।
सावधान रहें।

मोबाइल मेसेज प्रूफ