बंगाल में अम्फान

बहुत बुरा व्यवहार की है नेशनल मीडिया बंगाल के साथ । इतना तबाही हो गया है वहां लोग बात भी नहीं कर रहे , राममंदिर में ASI की खुदाई में मिला पिलर टी वी पर छाया है। बंगाल में जान माल की क्षति हुई है। इतना बड़ा बड़ा पुराना वट वृक्ष सब उखड़ गया, फोन बिजली का पोल उखड़ गया है, जीवन अस्त व्यस्त हो गया, 24 घण्टे लाइट नहीं, नेटवर्क अभी भी खराब। कितने लोग मर गए। मलबा ही मलबा है। लोग रास्तों में पोल के नीचे आकर दबे कुचले दिख रहे हैं। गरीब के घर सब तबाह हो गए कोई मतलब नहीं है। यहां तक की बिजली विभाग भी कोताही किये हैं, लैंडफाल पता होने के बाद भी कनेक्शन नहीं काटे थे वो लोग। एक अरनब नाम के आदमी के ट्वीट से भयावह बिजली गिरने और तार सब मे आग लगने का दृश्य देखे हैं, दिल दहला देने वाला तूफान था ये , फानी के बराबर का या उससे ज्यादा ही।

कश्मीर का गिलगित मिलाने के चक्कर मे क्या हम लोग पूरा भारत अलग अलग देखने लगे ? ये मुस्लिम समर्थक राज्य, ये हिन्दू समर्थक राज्य, ये कम्युनिस्ट राज्य । माँ भारती के ही जान माल का की हानी हुई है न भाई, काहे न्यूज़ रूम में लोग बात नहीं कर रहे?

तस्वीर साभार ट्विटर