प्रस्तुति शतदल रेडियो

जीवन में अनुशासन का महत्त्व विषय हिंदी निबन्ध के रूप में एक प्रचलित विषय है। प्रस्तुत पोडकास्ट में वक्ता प्रज्ञा मिश्र और आज के विशेष अतिथि गणित के प्राध्यापक श्री आलोक मिश्र के विचार आप सुन सकेंगे जो कोविड, वरचुअल डिजिटल दुनिया के इर्द गिर्द सोच कर रखे गए हैं। हमने ट्रेडिशनल निबंध से बाहर निकल आपके लिए नए एंगल प्रस्तुत किये हैं जो आज के समय की मांग के अनुसार है।

अनुशासनम् शब्द ‘अनु’ उपसर्गपूर्वक ‘शासनम्’ शब्देन निर्मितं अस्ति। अस्य अर्थमस्ति – शासनस्य अनुसरणम्। अतः नियमानां पालनं नियन्त्रणं स्वीकरणं वा अनुशासनम् कथ्यते। जीवनस्य प्रत्येकस्मिन् क्षेत्र कतिपयानां नियमानां पालनं आवश्यक वर्तते।

पोडकास्ट संस्कृत में नहीं हिंदी में ही है 🙂….. सुनने के लिये लिंक ज़रूर देखें ।

पोडकास्ट लिंक

Alok Ranjan Mishra का विशेष अतिथि के रूप में अपने विचार रखने के लिए सादर धन्यवाद !

कवर