A talk show on Tribal art culture and identity.

Listen Part 1 Podcast

इस पॉडकास्ट की स्पोटोफाई लिंक कुछ दिनों में उपलब्ध होगी

अब सुनते हैं श्रृंखला की अगली कड़ी में हमारे वक्ताओं के विचार और बढ़ाते हैं अपनी समझ आदिवासी कला , संस्कृति और पहचान के बारे में।

People are talking about something that interests you. Join the conversation, or listen in.
Circle: Tribal Art Culture Identity – Part 2 (from the series: shatdalradio)
Initiated by: Pragya Mishra
Time: 31 Jul, 11:30 AM IST
Link: https://www.mentza.com/circles/27062

Speaker –
Vinaysheel , Chhattisgarh
Sharad Kokas, Chhattisgarh

भारत में जनजातीय समुदायों ने अपनी पहचान उन प्राकृतिक संसाधनों के निकट विकसित की है जिनके आसपास उन्होंने अपनी सांस्कृतिक परंपराओं, अर्थव्यवस्था, सामाजिक नियंत्रण तंत्र, धार्मिक मिथकों और उत्पादन की तकनीकों का विकास किया था। उन्होंने अपने स्थानीय पर्यावरण के साथ एक सहजीवी संबंध विकसित किया है।

इस पॉडकास्ट को सुनकर आप आदिवासी समाज के प्रति अपनी समझ का आंकलन कर सकेंगे, प्रचलित ढर्रे से इतर अपनी नई समझ विकसित कर पाएंगे

मानव की विकास यात्रा के बीचों बीच समानांतर चलते फलते फूलते ट्राइबल समाज के प्रति संवेदनशीलता भी विकसित करना हमारा उद्देश्य है।

हमारा देश sustainable development की दिशा में है, और ऐसे में आदिवासी समुदाय के बारे में बात होना ज़रूरी है क्योंकि वे प्रकृति वादी हैं और एक समुदाय के रूप में आपने आस पास के वातावरण से सामंजस्य बिठा कर जीते रहे हैं।

Hosted by
Pragya Mishra
http://www.shatadal.com
@shatdaradio
In association with
Radio Playback India – Mentza