प्रेम

तुम प्रेम ही हो
वो जो हेमशा रहा है
हमेशा रहेगा
अद्भुत है प्रेम को देखना
नहीं मालूम था कि
ऐसा दिखता होगा प्रेम

Continue reading